Search This Blog

Monday, March 27, 2017

मिल किसी बहाने सै

                                
वज्न-2122 1212 22/112
अंजूमन- भीड़
दरख्त- पेड़
वस्ल-मिलन
शब- रात
मैकशी - शराब
दरम्या- बीच में
रू ब रू- आमने सामने
कूचे- गली