Search This Blog

Sunday, January 31, 2016

लफ़्जों के गुलाम नहीं होते -----

हमारी ख़ामोशी को इंकार समझ
कही और न भटक जाना
चाहने वाले लफ़्जों के गुलाम नहीं होते !!