Search This Blog

Saturday, January 16, 2016

फ़ित्रत ही रही

उनकी फ़ित्रत रही
हमेंशा हमें आज़माने की
हमारी हस्रत रही हमेशा
उनके क़रीब जाने की!!