Search This Blog

Wednesday, January 27, 2016

ज़िंदगी की शाम

वो न आये नाहीं उनका कोई पैगाम आया
इस ज़िंदगी की शाम ढ़ल गई
सिर्फ उनके इन्तज़ार में !!