Search This Blog

Sunday, July 10, 2016

सुनो कान्हा

                             

मुकुन्द मुकुन्द मुकुन्द मुकुन्द

मुकुन्दा मुरारी सुनो गिरधारी
तेरा नाम सत्यम् जपे दुनिया सारी

सुनो हे विधाता सुनो प्राणदाता
तुम्हीं राम कृष्ण तुम्हीं त्रिपुरारी

तुम्हीं सत्य सुन्दर,हरि: ॐ तत्सत्
नमो बासुदेवाय मैं शरणम् तिहारी

तुम्हीं राधे-राधे नारायण मिला दे
प्रभू प्राण प्यारे थकी अब मैं हारी

लगी है लगन जबसे बाँके बिहारी
तुम्हीं तुम हो दिखते नज़र में हमारी

बसाओ जो दिल में,गिराओ नज़र से
नहीं मिट रही जो अगन है तुम्हारी

सुनो हे मुरारी सुनो दुखहारी
मैं गज़ बन तड़पती बचा चक्रधारी

मुकुन्द मुकुन्द मुकुन्द मुकुन्द !!

                                                 


🌹अच्युतम् केशवम् कृष्ण दामोदरम्🌹
   🌹राम नारायण् जानकी वल्लभ्🌹
        🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
ब्लॉग ज्वाइन करने के लिए ऊपर सिनरी के नीचे बाँयी तरफ join this site पे क्लीक करे