Search This Blog

Friday, February 19, 2016

कोई तो ऐसी बात हो

कोई तो ऐसी बात हो
सनम हमारें साथ हों
मुस्करा लें पल दो पल भी
ऐसी एक मुलाक़ात हो
ज़िंदगी में भी खुमार हो
ज़ाहिर हमारा प्यार हो
गुलज़ार हो गुल पल दो पल भी
आँखो से ऐसी बात हो
मिलता नहीं मुकम्मल जहाँ
इस बात का ख़्याल हो
ज़िंदगी के हर मुक़ाम पे
कोशिश मगर हज़ार हो
दिलबर से कोई बात हो
ऐसी हसीन रात हो
बाँहों में गुज़रे पल दो पल भी
वो पल हमारे पास हो
इन्कार हो इक़रार हो
चाहें भले तकरार हो
साया हमारा चले उधर
जहाँ सनम का प्यार हो
मरने का न मलाल हो
चाहत मेरी मिसाल हो
दीदार हो बस उनका पल दो पल भी
बेचैन रूह को क़रार हो !!