Search This Blog

Monday, April 18, 2016

सजन एसी लगा दो ------

गर्मी के दिन नहीं भाय रे
सजन एसी लगा दो
पंखे और कूलर से काम नहीं चलता
सूरज बहुत झुलसाये रे
सजन एसी लगा दो
सूनी है सड़के और सूनी है गलिया
खिड़की से गर्म हवा आय रे
सजन एसी लगा दो
आम-निमकौड़ी के पेड़ नहीं दिखते
कहाँ पर झूले लगाये रे
सजन एसी लगा दो
आम का शर्बत और ठंडाई भाये
आइसक्रीम बहुत ललचाये रे
सजन एसी लगा दो
टप- टप-टप-टप पसीना टपके
सोलह श्रृंगार बहा जाय रे
सजन एसी लगा दो
बिस्तर भी राजा काँटे की तरह चुभता
तन-मन मोरा जला जाय रे
सजन एसी लगा दो !!